क्या आयुर्वेद में कोरोना वायरस का इलाज पहले से ही मौजूद था जानिए

जैसा कि आपको मालूम है चीन के वुहान से शुरू हुआ कोरोना वायरस दुनिया भर के सभी देशों को अपना शिकार बनाना शुरू कर दिया है संक्रमण की वजह से बहुत सी जान जा चुकी है । विश्व स्वास्थ्य संगठन (W.H.O) ने इसे महामारी घोषित कर दिया है ताजा रिपोर्ट के अनुसार लगभग 100,000 से ज्यादा लोगों मृत्यु हो चुकी है और लाखों लोग इससे अभी भी संक्रमित है सभी सरकार इस वायरस को लेकर लोगो में जागरूकता फैलाने का काम और इस पर काबू करने का प्रयास कर रही है । हमारे देश और हमारे समाज के लिए हमारा कर्तव्य बनता है हम खुद से कुछ प्रयास कर कर अपने समाज में साफ सफाई का ध्यान इस वायरस को खत्म कर सकते हैं 

 
 

What Is Corona Virus:- कोरोना वायरस एक ऐसे वायरस फैमिली से संबंध सकता है के संक्रमण होने से कुछ ही दिनों में हो जाती है परंतु इस वायरस से संक्रमित व्यक्ति को के लक्षणों का पता भी नहीं चलता क्योंकि यह बहुत ही सामान्य होते हैं उनके लक्षणों में जुकाम, सांस लेने में तकलीफ हल्का बुखार खांसी जैसे साधारण पढ़ते हैं ।अभी तक किसी भी देश द्वारा इस वायरस को फैलने से रोकने वाला कोई भी टीका या वैक्सीन नहीं बनी है परंतु फिर भी साधारण प्रयास द्वारा से निजात पा सकते हैं वैसे भी इसके लिए हमें कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना होगा जिसे स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी दिशानिर्देशों के अनुरूप पाया गया है 

इनके मुताबिक, हाथों को साबुन से धोना चाहिए. वाह ऐसे हैंड्रब या सैनिटाइजर का प्रयोग करना चाहिए मैं अल्कोहल पर्याप्त मात्रा में हो अल्कोहल हाथों के पर स्थित वायरस को नष्ट करने में सक्षम होता है छींकने और खांसने के बाद, बीमार व्यक्ति से मिलने के बाद, शौच के इस्तेमाल के बाद, खाना बनाने और खाने के बाद, पशुओं को छूने के बाद हाथ धोते रहें। हाथ गंदे नहीं होने पर भी धोएं। 
 

कोरोना वायरस से बचाव के लिए क्‍या करें:- 

  1. खांसते और छीकते समय नाक और मुंह रूमाल या टिश्‍यू पेपर से ढककर रखें. 

 

  1. सदैव ऐसे व्यक्तियों से दूर रहे जिनमें कोल्‍ड और फ्लू के लक्षण हों उनसे दूरी बनाकर रखें. 
  2. अंडे और मांस के सेवन से बचें. जंगली जानवरों के संपर्क में आने से बचें. 
  3. जब भी आप अपने घर से बाहर निकलें मास्क ज़रूर पहनें। मेट्रो, बसों और ट्रेन का सफर करना हो तो मास्क पहनना ना भूलें। विशेषज्ञों के अनुसार एन 95 मास्‍क इससे सुरक्षा के लिए बेहतर होता है। 
  4. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने वायरस से निपटने के लिए साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखने को कहा है। इसके लिए हाथों की सफाई को प्रमुखता दी है और दिन में कम से कम पांच बार हाथ धुलने का सुझाव दिया। डब्ल्यूएचओ ने हाथ को कब और कैसे धुलने का तरीका भी बताया है। 
  5. मुंह पर मास्‍क पहनें 

 

 

 

इसके अलावा कई ऐसे उपाय हैं जिन्हें अपना कर आप इससे बचाव कर सकते हैं: 

 

1- चिकित्सकों के मुताबिक कोरोना वायरस का संक्रमण बुजुर्गों और बच्चों के लिए ज्यादा नुकसानदेह साबित हो सकता हैकोराना वायरस का मुकाबला बेहतर प्रतिरोधक क्षमता से ही किया जा सकता है। शरीर की प्रतिरोधक क्षमता आयुर्वेदिक नुस्खों को अपनाकर बढ़ाया जा सकता है। 

 

2- इस मौसम में विटामिन सी से भरपूर चीजों का सेवन करना चाहिए। बच्चों और बुजुर्गों के लिए इनका इस्तेमाल विशेष रूप से प्रभावी है। टमाटर, आंवला, संतरा, गिलोय, मौसमी, अंगूर का प्रयोग नियमित रूप से करना चाहिए। 

 

3- ऐसे वातावरण खुद को ठंड से बचाए रखें और ठंडी तासीर वाले भोजन का परहेज करें। लगातार आप गर्म तासीर वाली से जैसे चाय, गरम सूप, दूध या पानी का सेवन करते रहें। 

 

4- दूध में हल्दी, मुनक्का और खजूर उबालकर लेने से प्रतिरोधक क्षमता में तुरंत सुधार होता है। 

 

5- आयुर्वेदिक दवाओं में, चंद्रप्रभा वटी, सितोपलादि चूर्ण, लक्ष्मी विलास रस,तालीसादिचूर्ण, चंद्र अमृत रस, टंकण भस्म, वासावलेह, अगस्त्य हरीतकी आदि दवाओं का सेवन चिकित्सक की सलाह से करें। 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *